मनरेगा मजदूरों की हड़प रहा था मजदूरी, भ्रष्टाचार साबित होने पर कम्प्यूटर आपरेटर की संविदा समाप्त

0
1159

हमीरपुर, 27 दिसम्बर । जांच के बाद भ्रष्टाचार के आरोप साबित होने पर जिलाधिकारी के आदेश पर ब्लाक के मनरेगा सेल में तैनात कंप्यूटर ऑपरेटर की संविदा समाप्त कर दी गई है। इसके पूर्व उसके खिलाफ बीडीओ ने मुकदमा दर्ज कराया था।

सुमेरपुर ब्लाक कार्यालय के मनरेगा सेल में तैनात कंप्यूटर ऑपरेटर दीपक वर्मा ने आधा दर्जन ग्राम पंचायतों के मनरेगा मजदूरों की मजदूरी खाता बदलकर अपने तथा अपनी पत्नी के खाते में भेज दी थी। इसकी शिकायत विरखेरा निवासी राजेश विश्वकर्मा ने जिलाधिकारी से की थी। जांच के बाद कंप्यूटर ऑपरेटर को दोषी पाया गया था। मनरेगा के श्रम उपायुक्त मनोज राय ने खंड विकास अधिकारी को मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए थे। प्रभारी खंड विकास अधिकारी गोपाल यादव ने ऑपरेटर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था मुकदमा दर्ज होने के बाद जिलाधिकारी राहुल पांडे ने आदेश करके कंप्यूटर ऑपरेटर की संविदा समाप्त कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here