कानपुर देहात में हुए एनकाउंटर पर सवाल खड़ा कर रहा वीडियो

0
2188

कानपुर देहात, 02 जुलाई ।  यूं तो सेवा में सदैव तत्पर रहने वाली यूपी पुलिस पर किसी न किसी वजह से दाग जरूर लगते रहे हैं वही कानपुर देहात की पुलिस की बात करें तो यहां की पुलिस अपराधियों पर कानून का राज कायम किए हुए है। यही वजह है की अब तक एसपी के सात महिनो के कार्यकाल में कई मुठभेड़ अपराधियो और पुलिस के बीच हो चुकी है जिसमे अपराधियो पर जबाबी फायर करते हुए उन्हे गिरफ्तार किया गया है। एक बार फिर देर रात कानपुर देहात पुलिस की अलग-अलग थाना क्षेत्रों में बदमाशो से मुठभेड़ हुई और मुठभेड़ के बाद तीन अपराधियो पर जबावी फायर कर ऑपरेशन लंगड़ा के तहत गिरफ्तार भी कर लिया गया । लेकिन एक वीडियो ने इस एनकाउंटर की हकीकत बयां कर दी है।

कानपुर देहात पुलिस ने बीती देर रात अलग-अलग थाना क्षेत्र में चेकिंग के दौरान लुटेरों से मुठभेड़ होना दिखाया है और अब तक के हुए सभी एनकाउंटर की एक समान स्क्रिप्ट लिखी जिसमे कोई परिवर्तन नही है।


दरअसल देर रात कानपुर देहात के दो अलग-अलग थाना क्षेत्र में मुठभेड़ हुई पहली मुठभेड़ अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र में हुई तो वहीं दूसरी मुठभेड़ सिकंदरा थाना क्षेत्र में हुई पुलिस संदिग्ध वाहनों की चेकिंग कर रही थी।

तभी बाइक से 3 लोग जा रहे थे पुलिस को देखकर अपराधी भागे और उन लोगो ने पुलिस टीम पर फायर कर दिया पुलिस ने उनका पीछा किया और जवाबी कार्यवाही कर उनके पैर में गोली मारी और पुलिस ने मुठभेड़ में पकड़ लिया है दोनों के पैर में गोली लगी है उनको इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है ।

वहीं इस मामले में एडिशनल एसपी राजेश पांडे ने बताया कि पकड़े गए बदमाश में एक का नाम बबलू है जो रसूलाबाद थाना क्षेत्र का निवासी है वही दूसरा व्यक्ति रमऊ थाना राजपुर का रहने वाला संदीप है जिनसे पूछताछ में पता चला कि इन लोगों ने सिकंदरा क्षेत्र में एक बाइक की लूट की थी जिन को गिरफ्तार किया गया है पकड़े गए व्यक्तियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जिनका इलाज किया जा रहा है।

घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती बबलू और संदीप ने बताया कि पुलिस ने उनको पहले थाने में बैठाले रखा फिर जंगल में ले जाकर गोली मार दी । हालांकि पुलिस मुठभेड़ में दोनों को गिरफ्तार दिखा रही है वही पुलिस लगातार एनकाउंटर को देखते हुए अपनी पीठ भले ही थपथपा रही हो लेकिन अस्पताल में भर्ती बबलू और संदीप ने पुलिस पर सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं । वही मुठभेड़ के दौरान भी एक वीडियो सामने आया है जिसमें घायल संदीप को पुलिस अपने कंधे पर लाद कर ले जा रही है उसके हाथ को कैसे और किस पोजीशन पर रखना है यह वहां पर खड़ा पुलिस वाला बता रहा है।

पुलिस बदमाशो की मुठभेड नही बल्कि किसी फिल्म की शूटिंग चल रही हो। और स्क्रिप्ट पहले से तैयार है

हालांकि मुठभेड़ में पकड़े गए अपराधी पुलिस पर आरोप लगा दुहाई देते नजर आ रहे हैं । भगवान माफ नही करेंगे वो इंसाफ करेंगे। फिलहाल जो भी हो पकड़े गए दोनों युवक, अपराधी हैं और पुलिस की इस कार्यवाही से अपराध पर जरूर लगाम लग सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here