राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कानपुर में मुविवि के क्षेत्रीय केंद्र का किया लोकार्पण

0
708

— राज्यपाल ने कहा, शिक्षा से वंचित रह गए लोगों को मुक्त विश्वविद्यालय से काफी आशाएं

कानपुर, 03 जून। उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज के क्षेत्रीय केंद्र कानपुर के नवनिर्मित भवन का लोकार्पण गुरुवार को जूही क्षेत्र अंतर्गत बीएम मार्केट में कुलाधिपति एवं राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के कर कमलों द्वारा किया गया।

इस अवसर पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि विश्वविद्यालयों को अपने शिक्षा पाठ्यक्रमों में नवीन परिवर्तनों के साथ लोक कल्याणकारी कार्यक्रमों को प्रारंभ करना चाहिए। शिक्षा से वंचित रह गए लोगों को मुक्त विश्वविद्यालय से काफी आशाएं हैं। युवाओं को ज्ञान के साथ नवीन तकनीक, प्रशिक्षण और कौशल विकास की आवश्यकता है।

उन्होंने क्षेत्रीय केंद्र कानपुर के भवन का उद्घाटन करते हुए कहा कि कानपुर नगर औद्योगिक राजधानी है। यहां बहुत से औद्योगिक क्षेत्र एवं औद्योगिक घराने हैं। विश्वविद्यालय इनके साथ मिलकर युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान करे। जिससे उन्हें कौशल युक्त रोजगार प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि समय की मांग के अनुसार कौशल विकास, इनक्यूबेशन सेंटर और स्टार्ट अप आदि क्षेत्र में युवाओं को प्रशिक्षण की आवश्यकता है।

राज्यपाल ने कहा कि हमारी नई पीढ़ी को तकनीकी ज्ञान में दक्षता हासिल होनी चाहिए। मुक्त विश्वविद्यालय को उन्नत खेती पर आधारित कार्यक्रमों के बारे में किसानों को बताना चाहिए कि वे ऐसी खेती करें जिससे मिट्टी उर्वरा शक्ति से सशक्त हो। उन्होंने महिलाओं को पोषण युक्त आहार दिए जाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि वर्ष 2023 को भारत में श्री अन्न वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है।

राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि मुक्त विश्वविद्यालय को तकनीकी विश्वविद्यालयों के साथ भी एमओयू करना चाहिए जिससे तकनीकी शिक्षा में दक्ष युवाओं को भी पढ़ाई का अवसर प्रदान हो सके।

इस अवसर पर उत्तर प्रदेश सरकार के उच्च शिक्षा मंत्री श्री योगेंद्र उपाध्याय ने कहा कि वर्तमान में उत्तर प्रदेश में शिक्षा के क्षेत्र में सकारात्मक बदलाव आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि दूरस्थ शिक्षा की उपयोगिता बढ़ रही है और शिक्षा जगत की विसंगतियां दूर हो रही हैं।

उच्च शिक्षा राज्य मंत्री रजनी तिवारी ने कहा कि दूरस्थ शिक्षा की वर्तमान में बहुत आवश्यकता है। नई शिक्षा नीति के अनुरूप कौशल विकास से संबंधित पाठ्यक्रमों को चलाए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अनुसंधान विकास और प्रोजेक्ट कार्य में गुणवत्ता को सुनिश्चित करने के लिए मुक्त विश्वविद्यालय बेहतर कार्य कर सकता है।

प्रारंभ में कुलपति प्रोफेसर सीमा सिंह ने अतिथियों का स्वागत एवं सम्मान किया। संचालन शोध एवं विकास प्रकोष्ठ के निदेशक प्रोफेसर पी के पांडेय एवं धन्यवाद ज्ञापन कुलसचिव कर्नल विनय कुमार ने किया।

इस अवसर पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने ‘ओजोन संरक्षण एक चुनौती’ विषयक पुस्तक का विमोचन किया। लोकार्पण समारोह में महापौर प्रमिला पांडेय, क्षेत्रीय विधायक महेश त्रिवेदी, विश्वविद्यालय के निदेशक, अधिकारी एवं विशिष्ट जन उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here