आज बिना भेदभाव के मिल रहा योजनाओं का लाभ, यही है ‘मोदी की गारंटी’ : सीएम योगी

0
348

– पहले योजनाओं का लाभ नहीं, बल्कि चूरन मिलता था, होता था बंदरबांट और भ्रष्टाचार : मुख्यमंत्री

वाराणसी, 14 दिसंबर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वाराणसी में विकसित भारत संकल्प यात्रा कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि देश की जनता की खुशहाली से ही भारत 2047 तक विकसित राष्ट्र बनेगा। उन्होंने सेवापुरी ब्लॉक के बरकी ग्राम सभा स्थित किसान इंटर कॉलेज में आयोजित विभिन्न योजनाओं से संबंधित प्रदर्शनियों का अवलोकन किया और वहां हो रहे ऑन दि स्पॉट रजिस्ट्रेशन की जानकारी भी ली। अपने उद्बोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता था, मिलता था तो केवल चूरन। योजनाओं में भ्रष्टाचार और बंदरबांट होता था, जिसे प्रधानमंत्री मोदी ने खत्म कर दिया। यही मोदी की गारंटी है और इसी संकल्प को आगे बढ़ाने के लिए विकसित भारत संकल्प यात्रा का आयोजन प्रदेश की हर ग्राम सभा में किया जा रहा है।

काशीवासियों का सौभाग्य कि उन्होंने एक विभूति को अपना जनप्रतिनिधि चुना
मुख्यमंत्री ने कहा कि काशीवासियों का सौभाग्य है कि उन्होंने 2014 में एक ऐसी विभूति को अपना जनप्रतिनिधि बनाकर देश की संसद में भेजा जो आज देश के प्रधानमंत्री भी हैं और वैश्विक दुनिया को मार्गदर्शन भी दे रहे हैं। ये काशी मोदी जी के संकल्पों की काशी है, जहां नये कलेवर में घाट और मंदिरों के सुंदरीकरण का कार्य तेज गति से आगे बढ़ रहा है।

पीएम ने बदल दी देश की तस्वीर और तकदीर
उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े 9 साल में पीएम मोदी ने देश की तस्वीर और तकदीर दोनों बदल दी है। विकास की बड़ी बड़ी परियोजनाएं लागू की जा रही हैं। आजादी के 75 वर्षों में गरीब कल्याण की योजनाएं पहली बार बिना भेदभाव के मिल रही हैं। देश में सुशासन, सुरक्षा और समृद्धि के माध्यम से विकसित भारत के सपने को साकार करने का जज्बा दिखने लगा है। प्रधानमंत्री का यह मानना है कि जब जनता लाभान्वित और खुशहाल होती है तो इस खुशहाली से देश भी खुशहाल होता है।

विकसित भारत के संकल्प को हमें करना है साकार : योगी
मुख्यमंत्री ने विकसित भारत संकल्प यात्रा कार्यक्रम के बारे में बताते हुए कहा कि इसका उद्देश्य यही है कि जो सरकार की योजनाओं से लाभान्वित हुए हैं वो अपने अनुभव ‘मेरी कहानी मेरी जुबानी’ के माध्यम से अभिव्यक्त करें। साथ ही जो लोग योजनाओं से अबतक लाभान्वित नहीं हुए हैं, उनके लिए अलग-अलग काउंटर बनाए गये हैं, जहां वह योजनाओं के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकें। यहां हाथों हाथ रजिस्ट्रेशन हो रहा है। योजनाओं का लाभ जब जनता को बिना भेदभाव के देने का कार्य होता है, तो उसके पीछे सरकार के संकल्प दिखाई देते हैं। अब हमें भी आत्मनिर्भर भारत के माध्यम से विकसित भारत के संकल्प को साकार करना है। मुख्यमंत्री ने इसके लिए प्रधानमंत्री के पंच प्रण का उल्लेख करते हुए सभी से अपने कर्तव्यों को पूरी ईमानदारी से करने का आह्वान किया।

प्राकृतिक खेती पर आधारित लघु नाटिका के मंचन को मुख्यमंत्री ने देखा
मुख्यमंत्री ने इससे पहले स्कूली बच्चियों द्वारा प्रस्तुत प्राकृतिक खेती पर आधारित लघु नाटिका के मंचन को भी देखा। उन्होंने किसान इंटर कॉलेज के संस्थापक ठाकुर यशपाल सिंह की मूर्ति का अनावरण भी किया। इसके अलावा उन्होंने छोटे बच्चों का अन्नप्राशन संस्कार संपन्न कराया। साथ ही महिलाओं को पोषण पोटली भी वितरित की। मुख्यमंत्री ने इस दौरान उपस्थित समूह के साथ भारत को 2047 तक आत्मनिर्भरऔर विकसित भारत बनाने के संकल्प को साकार करने की शपथ ली। सीएम योगी के सामने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों ने अपने अनुभवों को साझा किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाणपत्र, मकान की चाबी और चेक वितरित किया।

इस अवसर पर प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार रविन्द्र जायसवाल, राज्यमंत्री दयाशंकर मिश्र दयालु, जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्य, बीजेपी जिलाध्यक्ष एवं एमएलसी हंसराज विश्वकर्मा, विधायक त्रिभुवन राम, सुनील पटेल, वाराणसी के प्रभारी और एमएलसी अरुण पाठक सहित स्थानीय नागरिक बड़ी संख्या में मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here