भारत विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी क्षेत्र में भी विकसित राष्ट्रों की श्रेणी के करीब : प्रो. डी. स्वाईन

0
247

कानपुर, 15 मार्च । राष्ट्रीय आविष्कार अभियान के अंतर्गत ब्लाक स्तर पर विकास खंड-कुठौंद, जिला-जालौन के चयनित 100 बच्चों की एक्सपोजर विजिट राष्ट्रीय शर्करा संस्थान (एनएसआई) कानपुर में संपन्न हुई।

यह भ्रमण कार्यक्रम राष्ट्रीय आविष्कार अभियान के अंतर्गत ब्लाक स्तर पर क्विज प्रतियोगिता में चयनित होने वाले 100 उत्कृष्ट वच्चों के लिये विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा अनुमोदन के उपरांत संपन्न कराया गया।

इस अवसर पर छात्रों को संबोधित करते हुये संस्थान के निदेशक प्रो. डी. स्वाईन ने कहा कि मुझे यह कहते हुये गर्व हो रहा है कि आज भारत अंतरर्राष्ट्रीय पटल पर न केवल सामरिक अपितु विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भी विकसित राष्ट्रों की श्रेणी में खड़ा होने के करीब है। यह महानतम उपलब्धि हमारे प्रतिभावान वैज्ञानिकों के अथक एवं अनवरत प्रयास के परिणामस्वरूप ही संभव हो पाई है। आज के बच्चे कल के जिम्मेदार नागरिक और वैज्ञानिक होंगें, अतः हम सबका यह पुनीत दायित्व है कि हम इनको राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों का समय-समय पर दौरा करवायें और उनके बारे में इनको सारगर्भित जानकारी दें। जब बच्चों के मन में जिज्ञासा और ललक पैदा होगी तभी वे कुछ नया करने के लिये प्रतिबद्ध होंगें। यह प्रतिबद्धता उनको किसी भी क्षेत्र में अग्रिम पंक्ति में स्थापित करेगी।

संस्थान के जैव रसायन विभाग की प्रमुख, प्रो.(डॉ.) सीमा परोहा, आचार्य जैव रसायन ने विभाग में स्थित उन्नत एवं आधुनिक उपकरणों से युक्त विभिन्न प्रयोगशालाओं एवं ग्रेन बेस्ड डिस्टिलरी का भ्रमण करवाने के दौरान छात्र-छात्राओं के मन में उठने वाली विभिन्न जिज्ञासाओं का उत्तर विस्तार से दिया तथा उनको उपकरणों के बारे में जानकारी दी।
इस अवसर पर संस्थान की डॉ.अनंत लक्ष्मी, सहायक आचार्य जैव रसायन, डॉ.सुधांशु मोहन, कनिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी (भौतिक रसायन) आदि ने भी छात्र-छात्राओं को भविष्य में बेहतर से बेहतर करने के लिए प्रेऱित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here